सेल्फी की बातें

Retiredकलम

मैं ओर मेरी मोबाइल अक्सर आपस में बातें करते है, तू जब मेरे पास नहीं होती है तो लगता है जैसे जीवन रुक सा गया है / मैं तुमसे बहुत प्यार करने लगा हूँ / तुम मुझे अपडेट रखने में बहुत मदद करती हो / तू तो चलती फिरती मेरी जिन्न है..जो हमेशा पूछती रहती हो.. क्या हुक्म है आका ?

सच, तुम्हारे बिना तो आज के जीवन की परिकल्पना ही बेकार है / लोग कहते है की मोबाइल बहुत ही बुरी चीज़ है / यह लोगों का सुख चैन छीन लिया है ,इसके बहुत सारे अवगुण गिनाने लगते है, यहाँ तक कि मानसिक बीमारी का भी कारण बताने लगे है / परन्तु जो भी हो मैं इस गजेट से कुछ अच्छी बाते भी सीखी है /

जी हाँ, इस मोबाइल से ही ज़िन्दगी के चार मूल मंत्र सीखे है / सुबह उठते ही मोबाइल को चार्ज करना नहीं भूलते…

View original post 847 more words

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s